Home हिमाचली साहित्य व्यंग्य – चेयरमैन साहब और फेसबुक

व्यंग्य – चेयरमैन साहब और फेसबुक

0
663

चेयरमैन साहब कुछ दिनों से परेशान चल रहे थे, उनकी समझ में नहीं आ रहा था की फेसबुक में उन्होंने 5000 दोस्त बना रखे हैं और क्यों नहीं बन रहे? चाहते तो साहब 5 लाख बनाना पर कमबख्त जकरबर्ग 5000 पर टोक लिए और बनाने नहीं देता है।  फेसबुक को अपनी जागीर बना के बैठा है, साहब को समझ नहीं आता क्या करें? कई बार जकरबर्ग को फेसबुक में संदेश दे चुके हैं की औरों का छोड़ो कम से कम मुझे 5000 पर तो मत रोको, आखिर हम भी तो सहकारी समिति के चेयरमैन हूँ।

भाई आज से ही सोचना पड़ता है, अगले चुनाव में विधायक का पर्चा भी तो भरना है । आजकल सारे ही तो बोलते है जो सोशल मीडिया में स्टार होवे उ चुनाव जीते ही जीते। इन्हीं चक्करों में तो ये फेसबुक और ट्विट्टर चलाना सीखा हूँ। ऊपर से एक और परेशानी है 5000 दोस्त होने के बावजूद मेरी पोस्ट पर 4 -5 चमचों को छोड़ कर न कोई लाइक ना कमेंट, शेयर का छोड़ ही दो… करता ही कोई नहीं। रातों की नींद हराम हो गई…. साला मेरी तो।

देख रमेश तू पड़ा लिखा नौजवान है, विधायक बनते ही तेरी नौकरी पक्की करा दूंगा, कब तक तू ये प्राइवेट क्लार्क का काम करेगा? मुझे समझा दे रे क्या करूँ, कैसे फेसबुक और ट्विटर पर कैसे चमकुं? ट्विटर पर तो मेरे 50 फॉलोवर भी नहीं और ऊपर से ट्वीट करना भी आता नहीं। तू अपने गांव का आदमी है तभी तुझे अपनी परेशानी बता रहा हूँ, पूछने को तो मैं अपने आदमियों से पूछ लूं पर इनका पता थोड़े कब खेमा बदल दें, कुर्सी का खेल है प्यारे तू नहीं समझेगा।

अरे बाबू जी मैं सब समझता हूँ आप चिंता न करो मैं आपकी ऐसी सेटिंग करूँ की आप चमकते ही जाओगे, मेरे पास तरकीबें ही तरकीबें हैं।  बस आप मेरा ख्याल रखना, अफ़सर से कम कोई नौकरी नहीं चाहिए मुझे, याद रखना .  हम्म।

हाँ भाई हाँ ठीक है ठीक है, तुम्हारा नहीं तो किसका ख्याल रखना मैंने, बस आज तुम मेरा ख्याल रखो। देखो बाबू जी पूरा सोशल मीडिया ही तड़क भड़क का है, जो ना करे तड़क भड़क उसको कोई घास नहीं डालता। ये पहला मंत्र है आपको बस इसको याद रखना और यही करना, फिर देखना कृपा आनी शुरू हो जाएगी।

दूसरा मंत्र – फेसबुक में दोस्त चाहे आप कम ही रखो पर दुश्मन ज्यादा होने चाहिए, और अपनी पोस्ट से उन दुश्मनों को कम से कम दिन में दो बार जला दिया करो, मतलब ऐसी पोस्ट डालो की उनको जलन हो, फिर देखो कैसे कमैंट्स पर कमेन्ट आते है।

तीसरा मंत्र – विपक्षी और मशहूर लोगों की पोस्ट में छेड़छाड़ जरूर करनी है। यह बहुत ही जरूरी है, छेड़छाड़ से मेरा मतलब इन लोगों की पोस्ट पर कमेंट करना और उनसे बिना बात के उलझना।

चौथा मंत्र- आजकल जमाना ही सोशल मीडिया का है और यहां झूठ ही तो बिकता मिलता है और झुठ की मांग भी बहुत है, सो झूठ और झुठी ख़बरों को ख़ास तबज्जो देनी होगी।

पांचवा मंत्र- फेसबुक में फ़ोटो और वीडियो ज्यादा चलते हैं और अगर गलैमर का तड़का साथ में हो जाए तो समझो, आप फेसबुक में हिट हो, फिर जकरबर्ग भी कुछ नहीं कर सकता । फेसबुक के लिए तो ये मंत्र ही काफ़ी है। ट्विटर में आपको इन मंत्रों से साथ साथ कुछ और मंत्र भी चाहिये…….. पर जो ट्विटर पर हिट वो हर जगह फिट। ट्विटर के लिए आपको कुछ पैरोडी या झूठे एकाउंट भी चाहिए, और कुछ ऐसे खास चम्मचे जो आपकी ट्वीट आते ही रिट्वीट करें, यहाँ रिट्वीट हिट होने के लिए बड़े जरूरी हैं, रिट्वीट ही आपको वायरल कर सकते हैं और ट्विटर का बादशाह बना सकते हैं। और हाँ यहाँ हैशटैग भी बहुत जरूरी है, जो ट्रेंड करते रहते हैं, आपको अपनी तड़क भड़क वाली ट्वीट्स ट्रेंड करने वाले हैशटैग के साथ ही करनी है।

बस फिर क्या आपको फॉलो करने के लिए लाइन लग जाएगी, और देखते ही देखते आप सुपरस्टार बन जाएंगे। आज आप  चैयरमैन हैं और ऐसे ही सोशल मीडिया में छाए रहे तो कल मुख्यमंत्री और परसों का क्या पता प्रधानमंत्री ! बस आप सोशल मीडिया पर थोड़ी मेहनत करें कुछ अपने चम्मचों से करवाएं और देखते ही देखते स्टार बन जाएं।

पर साहब जी मेरा ध्यान रखना मेरी नौकरी आपके पास गिरवी है।

#नीब

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here